You are here
Home > Swarojgar AatmNirbhar Uttarakhand > लॉकडाउन का सदुपयोग, जन शक्ति मार्ग मठाली ग्राममठाली, ब्लॉक जयहरीखाल

लॉकडाउन का सदुपयोग, जन शक्ति मार्ग मठाली ग्राममठाली, ब्लॉक जयहरीखाल

लॉकडाउन का सदुपयोग जन शक्ति मार्ग मठाली,
( जन शक्ति मार्ग मठाली) ग्राममठाली, ब्लॉक जयहरीखाल।

लॉकडाउन के इस दौर में हमने देखा कि कई लोग लॉकडाउन का सदुपयोग कर मिसाल पेश कर रहे हैं। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है हमारे मठाली गांव ने!

 पौड़ी जनपद के लैसडॉनविधानसभा के ब्लॉक जयहरीखाल के अन्तर्गत आता है। गांव की लिंक सडक जो कि सन् 2008 में स्वीकृत हुई थी उस पर बार बार सर्वे ही होते रहे। ग्रामीणों के कई प्रयासों के बाद लगभग तीन साल पहले उद्घाटन के बाद इसका मात्र 500 मीटर हिस्सा बन पाया। अर्धनिर्मित सड़क को पूरा करने के लिए गांव वालों ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों को कई बार सम्पर्क किया और विभागों में भी पत्राचार किया लेकिन यह सडक आगे नहीं बढ़ सकी।
कहते हैं कि “भगवान भी उसी की मदद करता है जो स्वयं अपनी मदद करता है” इसी को आधार मानकर और जनप्रतिनिधियों के रूखे व्यवहार को देखते हुए युथउत्तराखंड टीम मेंबर संजय नेगी और जय नेगी जी और समस्त मठालीग्राम में साथियो ने ठाना कि अब हमें इस रोड़ को बनाने की जिम्मेदारी अपने कंधो पर उठानी पड़ेगी। जहां लोग इस कोरोना काल में विवश नजर आए वहीं हमने आपदा को अवसर में तब्दील कर दिया। फिर क्या था हमने युवा शक्ति को एक कर गांव में सभी को एकमत करते हुए श्रमदान के लिए प्रेरित किया और प्रवासियों को जिम्मेदारी दी कि सडक पर आने वाले जेसीबी के खर्च को वह सामूहिक रूप से वहन करेंगे। देखते ही देखते गांव और प्रवासी इस कार्य के लिए आगे आने लगे और श्रमदान शुरु कर दिया गया। श्रमदान शुरु होने के ठीक तीन दिन बाद दिनांक 15 जून 2020 को सोमवार की शाम जेसीबी भी गांव वालों का साथ देने के लिए पहुच गई और मंगलवार से जेसीबी ने कार्य करना प्रारंभ कर दिया। जुलाई माह के अन्त में हमने अपने निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त कर लिया।
आज हम सभी की एकता के कारण हमने दशकों पुराने उस ख्वाब को हकीकत में बदल दिया है और गांव में सड़क पहुचाने के साथ ही कई सपनों और रोजगार के नए अवसरों की उम्मीदों को नए पंख लगा दिए हैं। “जन शक्ति मार्ग मठाली” की इस सफलता में शामिल हर बच्चे से लेकर बुजुर्ग से लेकर हमारी मातृशक्ति को धन्यवाद जिन्होंने इसमें अपना योगदान दिया चाहे वह तन से हो मन से हो या धन से हो।
निश्चित ही हमने सोए हुए सिस्टम और जनप्रतिनिधियों को आइना दिखाने का काम किया है जो कि जनता को सिर्फ एक वोट तक ही सीमित करना या देखना चाहता है। आज मन कितना प्रसन्न है यह मैं बता तो नहीं सकता क्योंकि शायद मैं शब्दों में ना उकेर पाऊं। हां इतना जरूर कहूंगा कि हमने अपने एक ड्रीम प्रोजेक्ट को पूरा किया है जिस पर काफी समय से हमारी चर्चा हो रही थी। और आखिरकार हमने कर दिखाया यह जीत हमारी युवा शक्ति के जोश और बडों के आशीर्वाद की बदौलत सम्भव हुई है… 💐 💐 💐युथउत्तराखंड

 

 

Leave a Reply

Top
); ga('require', 'linkid', 'linkid.js'); ga('set', 'anonymizeIP', true); ga('set', 'forceSSL', true); ga('send', 'pageview');
error: Content is protected !!